बाढ़ ( बरहरा, भोजपुर, बिहार) की कहानी : तस्वीरो की जुबानी


राम भजो, राम भजो, राम भजो भाई.....

'भगवान' अपने घर को भी नहीं बचा पाए.....

खेतों में चल रही है नाव....

'प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना' से बनी सड़क..........दिख रही है क्या? 

बाढ़  के बीच 
यहाँ एक सड़क हुआ करती थी .....


बाढ़ से घिरे गांव
©  सर्वाधिकार सुरक्षित!

Comments

Is post ko Rajy ke sushasan kahane walo dikhlani chahiye
Bihar ka ab yahi gauraw hai
राम भजो, राम भजो भाई. is sthiti me to Ram hi bhajna padega.
भगवान का अल्लाह भी रहते तो वो नही बचा पातें अपनी मस्जिद को..

Popular posts from this blog

किस गांव की बात करते हो जी ?

विश्वविख्यात गणितज्ञ डॉ. वशिष्ठ नारायण सिंह : मिलना एक जिनियस से

एक उपेक्षित धरोहर !