जब हमारे घर देवी माता पधारीं😃

कुछ दिनों पहले हमारे घर देवी माता आयीं थी....

उनके साथ, सहायिका माता भी थीं...जिसका परिचय वो गर्व से करा रही थीं कि बेटा हम दाई लेकर घूमते है..इसलिए भरोसा करो...साईं बाबा ने मुझे तुम्हारे लिए भेजा है..

और उसके बाद असल बात शुरू हुई- मैं माता हूँ....दान दो बेटा..... सारे सुख मिलेंगे...घर आबाद होगा... नहीं दोगी तो भस्म हो जाओगी...सब ख़त्म हो जाएगा..

हमसब ने कहा कि माताजी ऊपर अभी-अभी हमारे पालतू कुत्ते को घूमने के लिए छोड़ा गया है....खूंखार है... जाइए जल्दी, वो नीचे ही आ रहा...

और देवी माँ, अपनी सहायिका के साथ तुरंत अंतर्ध्यान हो गयी...


(एकदमे सच्ची घटना...हां माता जी को डराने के लिए कुत्ते की मनगढ़ंत बात कही और वो जादू सा असर कर गया😂😂)

Comments

Popular posts from this blog

एक उपेक्षित धरोहर !

डोमकच

मैंने नेत्रदान किया है..और आपने ?